गिरती छूरी कैसे और कब पकड़ें

एक प्रसिद्ध हिन्दी कवि गिरिधर कविराय की लिखी हुई कविता की दो पंक्तियां उद्धृत करने के पश्चात मैं अपने मूल विषय पर आऊँगा. बिना विचारे जो करै, सो पाछे पछिताय। काम बिगारै आपनो, जग में होत हंसाय॥ अब इसे पढ़ने के बाद आप भी मानेंगे कि शेयर मार्केट के बारे में चरचा करने वाले वणिक … Read more